एपीजे अब्दुल कलाम जी का डेथ एनिवर्सरी,जाने उनके बारे में,उनके कुछ मोटिवेशनल कोट्स

मोटिवेशनल कोट्सउन्होंने मद्रास इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग में डिग्री हासिल करने के बाद भारत सरकार की रक्षा संधान विभाग Defence Reasearch Organisation ज्वाइन कर लिया  

फिर  उन्होंने भारत सरकार की एजेंसी जो की स्पेस कार्यों को करने के लिए जानी जाती है इंडियन स्पेस रिसर्च organistion को ज्वाइन कर लिया और SLV 3 के प्रोजेक्ट डायरेक्टर बन गए ।

एपीजे अब्दुल कलाम जी का डेथ एनिवर्सरी,जाने उनके बारे में,उनके कुछ मोटिवेशनल कोट्सआपको बता दे की कलाम ने एकबार फिर से DRDO ज्वाइन किया और इस बार अब्दुल ने प्लानिंग के तहद काम किया और कई सारे मिसाइल को लॉन्च किया जिसके बाद उनका नाम मिसाइल मैन पड गया । 

एपीजे अब्दुल कलाम जी का डेथ एनिवर्सरी,जाने उनके बारे में,उनके कुछ मोटिवेशनल कोट्सदोस्तो अपको बता दे की यह बात तब की जब केंद्र में कांग्रेस को गवर्नमेंट थी और उस वक्त अपने समयानुसार प्रेसिडेंट के चुनाव होने थे 

तो इस चुनाव ने DR APJ ABDUL KALAM जी का नाम भी दिया गया और ये नाम भारत के हिंदुत्व वादी पार्टी के द्वारा ही दिया गया था जिसका नाम NDA था जबकि रूलिंग पार्टी ने किसी और व्यक्ति का नाम दिया था और परिणाम स्वरूप कलम साहब चुन कर के प्रेसिडेंट के पोस्ट पे स्थापित होते है वे 2002 में प्रेसिडेंट बनते है और उनका कार्यकाल समय 2007 में होता है ।  

एपीजे अब्दुल कलाम जी का डेथ एनिवर्सरी,जाने उनके बारे में,उनके कुछ मोटिवेशनल कोट्सउन्होंने कई लेख भी लिखे जिसमे से अतिलोकप्रिय उनकी ऑटोबायोग्राफी थी जिसका नाम Wings of Fire है जो की अतिलोकप्र है । 

एपीजे अब्दुल कलाम जी का डेथ एनिवर्सरी,जाने उनके बारे में,उनके कुछ मोटिवेशनल कोट्सआपको बता दे की उनकी भारत के दो सबसे सर्वोच्च सम्मान से नवाजा किया गया जिनमे से पहला अवार्ड पद्म विभूषण था जो उन्हे 1990 में दिया गया था और दूसरा अवार्ड भारत रत्न था उन्हें 1997 में दिया गया था । 

1. अगर हमें अपने सफलता के रास्ते पर निराशा हाथ लगती है इसका मतलब यह नहीं है कि हम कोशिश करना छोड़ दें क्योंकि हर निराशा और असफलता के पीछे ही सफलता छिपी होती है।

पूरी जान करि के लिए लिंक पर क्लीक करे।