India’s First Fusturstic Village:भारत में एक ऐसा फ्यूचरिस्टिक विलेज जो है स्मार्ट सिटी से भी आगे

India’s First Fusturstic Village:भारत में एक ऐसा फ्यूचरिस्टिक विलेज जो है स्मार्ट सिटी से भी आगे

नमस्कार प्यारे दोस्तों स्वागत है आपका हमारे एक और बेहतरीन आर्टिकल में जहां हम बात करने जा रहे हैं आज के सबसे ट्रेनिंग मुद्दे के बारे में जब से यह मुद्दा इंटरनेट पर आया है चारों तरफ इसी के बारे में बात हो रही है

जी हां हम बात करने जा रहे हैं आज एक गांव के बारे में जो टेक्नोलॉजी से लैस है यहां पर आपको एक से बढ़कर एक टेक्नोलॉजी देखने को मिलेंगे

इस गांव में आपको ऐसी-ऐसी सुविधा देखने को मिल जाएंगे जो कि आपको किसी बड़े से बड़े स्मार्ट सिटी में भी नहीं देखने को मिलेगी इस गांव में इतनी सुविधा उपलब्ध है कि आप इसे देखकर हैरान रह जाएंगे

आपका भी मन हो जाएगा कि काश आपके भी घर या आस-पड़ोस कुछ ऐसी सुविधाएं मौजूद हो और उनका लाभ आप उठा पाए तो चलिए के इस गांव की सारी सुविधाओं के बारे में बात करते हैं जो इसे खास बनाती हैं और इसे फ्यूचरिस्टिक विलेज का दर्जा दिया जा रहा है और यह भी कहा जा रहा है कि यह स्मार्ट सिटी से कई मामले में बेहतर है.

कहां स्थित है गांव?

India’s First Fusturstic Village आपको बता दे या गांव गुजरात राज्य में स्थित है गुजरात में गांधीनगर से 80 किलोमीटर की दूरी पर एक गांव है पुंसरी यह गांव वहीं पर स्थित है.

India’s First Fusturstic Village क्या है यहां की मूल सुविधाएं?

अगर मूल संविधान की बात करें तो इस गांव में कुल पांच प्राइमरी स्कूल है और प्रत्येक स्कूल में ऐसी लगे हुए हैं इतना ही नहीं प्रत्येक स्कूल में स्मार्ट क्लासेस की सुविधा भी उपलब्ध है ताकि बच्चे अच्छे से पढ़ाई कर सकें और देश का नाम रोशन कर सकें.

India’s First Fusturstic Village

गांव में उपलब्ध है 24 * 7 वाईफाई सुविधा-

अगर बात करें वाईफाई की तो इस गांव में चौबीसों घंटे वाईफाई उपलब्ध रहती है जो कि हफ्ते के 7 घंटे लगातार गांव वालों के लिए कार्यरत रहती है आज के दौर में जहां हम देख सकते हैं कि बड़े से बड़े शहर में भी वाईफाई की इतनी बेहतरीन सुविधा नहीं उपलब्ध है
वहां आज के इस दौर में एक छोटे से गांव है जो कि गुजरात में है वहां पर वाई-फाई की सुविधा इतने अच्छे से प्रदान की जा रही है यह सुविधा लोगों के हित में प्रदान की गई है ताकि गांव का बच्चा-बच्चा इंटरनेट के माध्यम से देश-विदेश की सूचनाओं को इकट्ठा कर अपनी पढ़ाई में लगा सके और ढेर सारे ज्ञान को इकट्ठा कर देश का नाम रोशन कर सके
वाईफाई के होने के कारण गांव वालों ने बताया कि उनके ढेर सारे काम घर पर ही हो जाते हैं जैसे कि सरकारी योजनाओं का लाभ उठाना और अन्य तरीके की योजनाओं से संबंधित फॉर्म इत्यादि भरना वह सब काम घर पर ही कर सकते हैं.

मौजूद है यहां मोबाइल लाइब्रेरी-

यह देश का ऐसा पहला गांव है जहां पर बुक्स पढ़ने के लिए मोबाइल लाइब्रेरी उपलब्ध है.

पूरे गांव में लगाए गए स्पीकर और कैमरा-

आपत्तिजनक स्थिति में इंस्टेंट अनाउंसमेंट के लिए पूरे गांव में स्पीकर की सुविधा प्रदान की गई है और इतना ही नहीं सुरक्षा के नजरिए से पूरे गांव में कैमरा प्रदान किया गया है ताकि गांव सुरक्षित रहे ऐसा करने वाला यह एकमात्र पहला गांव बनता है.

ट्रांसपोर्टेशन की सुविधा क्या है?

या ट्रांसपोर्टेशन की अच्छी सुविधा उपलब्ध है ट्रांसपोर्टेशन के लिए यहां पर मिनी बस की सुविधा उपलब्ध है.

सफाई पर दिया जाता है खास ध्यान-

इस गांव की सफाई पर खास ध्यान दिया जाता है इस गांव को काफी साफ सुथरा रखा जाता है कुंदन को उसके सही स्थान पर ही डाला जाता है ताकि यह गांव पूर्ण रूप से स्वच्छ रह सके

इतना ही नहीं इस गांव में आपको आग बुझाने वाली मशीन भी मिल जाएगी ताकि आपत्तिजनक स्थिति में आग को आसानी से बुझाया जा सके और लोगों के जान माल की रक्षा की जा सके.

किसे जाता है इसका श्रेय-

डेवलपमेंट का पूरा श्रेय गांव के सरपंच हिमांशु पटेल जी को जाता है वह मात्र 30 वर्ष के युवा है जिन्होंने अपने बुलंद हौसले से ऐसा कारनामा करके दिखाया है कि पूरा देश आज हैरान है कि आखिर इतना छोटा सा युवक इतनी कमाई में इतना बड़ा डेवलपमेंट कैसे कर सकता है.

India’s First Fusturstic Village

Leave a Comment