Gyanwapi Survey Update 7 August: ज्ञानवापी के सर्वे में तीसरे दिन मिले कुछ चौंकाने वाले तथ्यजो वहां मंदिर होने का दावा करते हैं

Gyanwapi Survey Update 7 August: ज्ञानवापी के सर्वे में तीसरे दिन मिले कुछ चौंकाने वाले तथ्य जो वहां मंदिर होने का दावा करते हैं

मिले चौंकाने वाले तथ्य-

Gyanwapi Survey Update 7 August:ज्ञानवापी के सर्वे में तीसरे दिन मिले कुछ चौंकाने वाले तथ्यजो वहां मंदिर होने का दावा करते हैं
Gyanwapi Survey Update 7 August:ज्ञानवापी के सर्वे में तीसरे दिन मिले कुछ चौंकाने वाले तथ्यजो वहां मंदिर होने का दावा करते हैं

ज्ञानवापी में एसआई का सर्वे पूर्ण रूप से जारी है और यह एएसआई का सर्वे प्रतिदिन अपने नए नए कार्यों में जुड़ा हुआ है इसी कार्य के दौरान आज कार्य का तीसरा दिन था और आज एएसआई तीसरे दिन में ही कुछ नए तथ्यों को सामने लाने में सक्षम हुए हैं यह तथ्य कुछ ऐसे हैं जिन्हें सुनकर आप चौक जायेंगे.

क्या है तथ्य?

Gyanwapi Survey Update 7 August:ज्ञानवापी के सर्वे में तीसरे दिन मिले कुछ चौंकाने वाले तथ्यजो वहां मंदिर होने का दावा करते हैं
Gyanwapi Survey Update 7 August:ज्ञानवापी के सर्वे में तीसरे दिन मिले कुछ चौंकाने वाले तथ्यजो वहां मंदिर होने का दावा करते हैं

Gyanwapi Survey Update 7 August आपको बता दें कि एएसआई के तीसरे दिन के जांच के रिपोर्ट में ढेर सारे तथ्यों का ऐसा समागम मिला है जो चीख चीख कर इस बात का दावा करते हैं कि मंदिर वहीं था और बाद में बाबर ने इसे ध्वस्त करके मंदिर के स्थान पर मस्जिद का निर्माण कराया.

क्या हुआ पूरी जांच में आज?

Gyanwapi Survey Update 7 August आज मंदिर के अंदर का तहखाना खोला गया और वहां पर जोरों शोरों से जांच का कार्य चालू हुआ जैसे-जैसे जांच की प्रक्रिया आगे बढ़ती गई मुस्लिम पक्ष की हालत वैसे ही खराब होती चली गई और मुस्लिम पक्ष का डर का स्तर धीरे-धीरे बढ़ता ही चला गया आपको बता दें कि वहां पर कई सारे ऐसे तत्वों का मिश्रण मिला है जो कई प्रकार के दावे करते हैं और एएसआई इन दावों को पुख्ता करने के लिए और ढेर सारी जानकारी इकट्ठा करने में जोरों शोरों से लगी हुई है ऐसे में देखना यह होगा कि क्या एएसआई द्वारा किए गए दावे सत्य साबित होंगे या नहीं अब जीत किसकी होगी या तो एसआई के अगले रिपोर्ट पर ही निर्भर करता है.

कब शुरू हुआ एएसआई का सर्वे?

Gyanwapi Survey Update 7 August ज्ञानवापी के परिसर में एएसआई का सर्वे शनिवार को सुबह 8:00 बजे से ही प्रारंभ हो चुका है जैसे ही घड़ी में 8:00 बजे वैसे ही एएसआई टीम अपने पूर्व निर्धारित समय पर मंदिर के परिसर में पहुंच जाती है और पहुंचकर अपना आगे का कार्यवाही प्रारंभ कर देती है आपको बता दें कि यह मामला काफी गर्म हो चुका है और पूरे देश की नजर इस मामले पर टकटकी लगाक लगी हुई है पूरा देश इस मामले का अपडेट लेना चाहता है और जानना चाहता है कि आगे का क्या हाल है इसी कारण से एएसआई पर भी सामाजिक रूप से दबाव है कि वह इस मामले को जल्द से जल्द हल करें और कोर्ट को मामले से जुड़े हुए सारी जानकारी मुहैया कराएं.

कड़ी सुरक्षा के मध्य एएसआई की टीम मंदिर पहुंची-

Gyanwapi Survey Update 7 August:ज्ञानवापी के सर्वे में तीसरे दिन मिले कुछ चौंकाने वाले तथ्यजो वहां मंदिर होने का दावा करते हैं
Gyanwapi Survey Update 7 August:ज्ञानवापी के सर्वे में तीसरे दिन मिले कुछ चौंकाने वाले तथ्यजो वहां मंदिर होने का दावा करते हैं

Gyanwapi Survey Update 7 August एएसआई टीम को कड़ी सुरक्षा प्रदान की गई थी सुरक्षा राज्य सरकार के द्वारा एएसआई टीम को जानमाल की सुरक्षा के तौर पर प्रदान की गई थी आपको बता दें कि यह मामला काफी गर्म हो चुका है ऐसे में कई तरह की हिंसा होने की भी संभावना है हो सकता है कि कई नेता अपने लोगों को भड़का कर एएसआई के लोगों पर हमला करा दें इसी कारणवश एएसआई टीम को कड़ी सुरक्षा दी जा रही है यह सुरक्षा उत्तर प्रदेश के विभाग द्वारा दी जा रही है उत्तर प्रदेश की पुलिस विभाग पूर्ण रूप से एएसआई को कड़ी सुरक्षा देने के लिए तत्पर है और कड़ी सुरक्षा के बीच ही मंदिर की निगरानी की जा रही है की हिंसा न भड़क सके.

मंदिर के किस हिस्से में जांच हुआ?

Gyanwapi Survey Update 7 August आज एएसआई की टीम अपने पूर्व निर्धारित समय 8:00 बजे मंदिर के परिसर में पहुंचकर व्यास जी के तहखाना और अन्य जगहों पर जाकर अपना सर्वे पूर्ण किया और जांच के बाद उन्हें कुछ चौंकाने वाले तथ्य मिले.

मंदिर से लिए कई सैंपल-

Gyanwapi Survey Update 7 August एएसआई की टीम ने जांच के दौरान मंदिर से कई तरह के सैंपल मिले हैं जिसमें ईट मिट्टी आदि चीजें हैं आपको बता दें कि इन चीजों के माध्यम से यह पता चल सकेगा कि यह बिल्डिंग कितनी पुरानी है और किस काल खंड में इस बिल्डिंग का निर्माण किया गया है जो कि इस केस में काफी मददगार साबित हो सकती है और इस केस के एक नया रास्ता दे सकती है और केस के अंतिम पहलुओं को जज के सामने रखने में काफी सहायता प्रदान करेगी.

आईआईटी कानपुर करेगी जांच में एएसआई की मदद-

Gyanwapi Survey Update 7 August हालांकि यह जांच की प्रक्रिया इतनी भी सरल नहीं है कि केवल एएसआई अकेले इसे हल कर दे ऐसे अवस्था में हम देख सकते हैं कि आईआईटी कानपुर जैसी विशाल संस्था सामने आती है और एएसआई को अपना मदद देने की बात करती है और अंततः यह बात तय होता है कि एएसआई और आईआईटी कानपुर साथ मिलकर इस मामले की छानबीन करेंगे

Leave a Comment