Dussehra 2023: ये है दशहरे का शुभ पूजन मुहूर्त, रावण दहन का समय भी जानें ले !

Dussehra 2023: विजयदशमी का पावन पर्व जिसका इंतज़ार हर एक भारतीय करता है वो गया है. आज के दिन को बुराई के ऊपर अच्छाई का जीत के रूप में माना जाता है. इसी दिन भगवान राम ने लंकापति रावण का वध किया था. इतना ही नहीं, इसी दिन माँ दुर्गा ने महिषासुर नामक असुर का भी वध किया था. आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से दशहरे पर पूजा का शुभ मुहूर्त और पूजन विधि के बारे में बताने जा रहे है.

Dussehra 2023 Date (दशहरा 2023 दिनांक)

Dussehra 2023(दशहरा 2023): दशहरा यानी विजयदशमी इस त्यौहार को हर साल तकरीबन 24 अक्टूबर के आसपास ही मनाया जाता है. दशहरे के दिन ही भगवान राम ने रावण के ऊपर विजय प्राप्त की थी. इतना ही नहीं इसी दिन मां दुर्गा ने महिषासुर नामक असुर का वध भी किया था. इसी दिन मां देवी की प्रतिमा भी विसर्जित की जाती है. इस दिन अस्त्र-शास्त्र की पूजन भी की जाती है, और विजय पर्व भी धूमधाम से मनाया जाता है.

कैसे मनाएं दशहरा? (Dussehra 2023)

Dussehra 2023
Dussehra 2023

यह दिन प्रत्येक भारतीय के लिए बेहद ही खास होता है. इस दिन सर्वप्रथम मां दुर्गा की पूजा अर्चना की जाती है. और फिर उसके बाद भगवान राम का पूजन धूमधाम से किया जाता है. पूजन के बाद देवी और भगवान राम के मंत्रो का उच्चारण किया जाता है. यदि आपने कलश की स्थापना की है तो नारियल हटा लें, उसे प्रसाद के रूप में ग्रहण कर सकते हैं. और दूसरों को भी दे सकते हैं. कलश में रखा हुआ जल पूरे घर में छिड़क सकते हैं. ऐसा करने से घर की नकारात्मक ऊर्जा समाप्त हो जाती है. आपने जिस जगह पर नवरात्रि की पूजा स्थापना की थी, उस स्थान पर दीपक जलाएं. यदि आप शस्त्र पूजन करते हैं, तो आप तिलक लगाकर रक्षा सूत्र बांध ले.

तिथि और मुहूर्त (Dussehra 2023 Puja Muhurt)

Dussehra 2023
Dussehra 2023

यदि हिंदू पंचांग के अनुसार चला जाए तो आश्विन शुक्ल दशमी तिथि 23 अक्टूबर शाम 5:44 से 24 अक्टूबर दोपहर 3:14 तक यह रहने वाली है. उदया तिथि के कारण ही विजयदशमी 24 अक्टूबर को धूमधाम से मनाई जाएगी. यदि अभिजीत मुहूर्त की बात करें तो इस दिन सुबह 11:42 से दोपहर 12:27 तक रहने वाली है. साथ ही दोपहर 1:58 से दोपहर 2:43 तक विजय मुहूर्त रहेगी. यदि आप पूजन करना चाहते हैं, तो यह दोनों ही मुहूर्त पूजन के लिए अति उत्तम है.

विजयादशमी की पूजन विधि (Dussehra 2023 Pujan Vidhi)

दशहरे के दिन माँ दुर्गा कि पूजन करने से दुखो का नाश होता है. माँ दुर्गा कि विधि विधान पूजन करना चाहिए जैसे कि हमारे शास्त्रों में वर्णित है और हमारे यहाँ के पंडित जी द्वारा इसे एक व्यवस्थित तरीके से किया जा सकता है यदि आप चाहे तो स्वयं भी इसे घर पर विडियो देख कर सकते है.

Dussehra 2023 Pujan Vidhi

रावण दहन मुहूर्त (Dussehra 2023 Ravana Dahan Muhurt)

यदि हम इस साल रावण दहन मुहूर्त पर थोड़ी चर्चा करें तो देख सकेंगे, कि 24 अक्टूबर को शाम 5:43 के बाद रावण दहन करना अति उत्तम रहने वाला है. दशहरा पर रावण दहन के लिए सबसे उत्तम मुहुर्त शाम 07.19 मिनट से रात 08.54 मिनट तक है.

शत्रु बाधा दूर करने का महाउपाय (Dussehra 2023 Upay)

Dussehra 2023 के इस पावन अवसर पर आपके जीवन से ढेर सारे संकट को भी इस महा उपाय से दूर किया जा सकता है. दशहरा के दिन शाम की संध्या को के समय को सर्व सिद्धिदायी विजय  काल कहा जाता है. “ॐ अपराजितायै नमः” का 5 माला का जप करने से ढेर सारी मुसीबत का हाल होता है. साथ ही हनुमान जी के सिद्ध मंत्र “ॐ हं हनुमते रुद्रात्मकाय हुं फट” का 2 माला जाप करें. इससे आपके जीवन में ढेर सारी मुसीबतें कट जाती हैं. और आपके जीवन में नई पहचान मिलने की संभावनाएं बढ़ जाती है.

ऐसे ही ढेर सारी जानकारी को एकत्र करने के लिए जुड़े रहे हमारे साथ bloggingwallah.com के साथ.

Leave a Comment