Dubai has developed artificial rain 2023-24: दुनिया के इस देश में होता है आर्टिफिशियल बारिश क्या आपको पता है ? नै पता तो आइऐ जानते

Dubai has developed artificial rain 2023-24 दुबई ने विकसित कर दिया आर्टिफिशियल बारिश पानी हो जायेगा और भी सस्ता

Dubai has developed artificial rain: दुबई ने अपने तकनीकी के माध्यम से आर्टिफिशियल बारिश कराके पूरी दुनिया का ध्यान अपने तरफ आकर्षित कर लिया है। एक बार फिर आर्टिफिशियल बारिश का सफल परीक्षण करने के बाद दुबई ने ये साबित कर दिया है की आर्टिफिशियल बारिश से बहुत कुछ बदला जा सकता है क्युकी आज के समय में भी बहुत से ऐसे देश है जिन्हे पानी पीने के लिए भी बहुत जायदा खर्च करना पड़ता है। 

Dubai has developed artificial rain
Dubai has developed artificial rain

दुबई ने ड्रोन के मदद से सफल परीक्षण किया है बताते चले ये बहुत ही सस्ता और काम खर्चीला प्रोजेक्ट था ।
आज के बदलते समय में ये आर्टिफिशियल बारिश एक हथियार की तरह काम कर सकता है क्युकी बाढ़ सूखा गर्मी जैसी बड़ी समस्या बड़ रही है।

Dubai has developed artificial rainआर्टिफिशियल बारिश कैसे कार्य करता है?

आर्टिफिशियल बारिश कराने के लिए बादल में सिल्वर आयोडाइट या पोटेशियम आयोडाइट के कैमिकल का छिड़काव करते हैं ये बादल में उपस्थित नमी को खीच कर बादल बना के बारिश कर देता है। ये हमेशा सफल परीक्षण नही होता है इसके लिए जरूरी होता है वहा का वातावार बादल में उपस्थित नमी और सही समय का होना।
ये अभी तक केवल 55% तक ही सफल माना जा रहा है क्युकी ये पूरी तरह से सक्सेस प्रोजेक्ट नही है।

Dubai has developed artificial rain आर्टिफिशियल बारिश कराने में कितना समय लगेगा

अगर देखा जाए तो आर्टिफिशियल बारिश पूरी तरह से मौसम पर भी डिपेंड करता है क्युकी जिस जगह पर जितना जायदा बादल बनेगा वहा उतना जल्दी आर्टिफिशियल बारिश हो सकती है।
वैसे आर्टिफिशियल बारिश 30 मिनट में हो जायगी।

Dubai has developed artificial rain: एक बार आर्टिफिशियल बारिश कराने में 1 स्क्वायर मीटर में लगभग 15000 हजार रूपए खर्च आ जाता है।
भारत में कर्नाटक और तमिलनाडु में इसे पहले आर्टिफिशियल बारिश कराई जा चुकीं थीं जिसका कुल 89 करोड़ रूपए खर्च आया था।

Dubai has developed artificial rainआर्टिफिशियल बारिश कराने के लिए दुबई इतना क्यों काम कर रहा है। 

Dubai has developed artificial rainदुबई ने विकसित कर दिया आर्टिफिशियल बारिश पानी हो जायेगा और भी सस्ता
Dubai has developed artificial rainदुबई ने विकसित कर दिया आर्टिफिशियल बारिश पानी हो जायेगा और भी सस्ता

अगर देखा जाए तो दुबई मिडल ईस्ट में पड़ता है और वहा पर बहुत जायदा गर्मी पड़ती है साथ ही साथ रेगिस्तान होने से वहा का तापमान 50 डिग्री तक चला जाता है ऐसे में दुबई में बहुत अधिक गर्मी पड़ती है जिसे वहा के लोगो को बहुत जायदा गर्मी का सामना करना पड़ता है जिसे पानी की समस्या के साथ साथ बहुत से समस्या उत्त्पन्न हो जाती है।
इनी सब कारणों के कारण दुबई आर्टिफिशियल बारिश पर जायदा काम कर रहा है।

Dubai has developed artificial rain: दुबई अपना 80% पानी का सप्लाई समुंदर से करता है जो की खारा पानी होता है जिसे पीने योग्य बनाने में दुबई को बहुत जायदा खर्च करना पड़ता है । 20% पानी दुबई एक्सपोर्ट करता है उसके लिए भी दुबई को ज्यादा पैसा देना पड़ता है इसी लिए दुबई अपने वहा आर्टिफिशियल बारिश की तकनीक को विकसित कर रहा है।

Dubai has developed artificial rainआर्टिफिशियल बारिश से फायदा 

Dubai has developed artificial rainदुबई ने विकसित कर दिया आर्टिफिशियल बारिश पानी हो जायेगा और भी सस्ता
Dubai has developed artificial rainदुबई ने विकसित कर दिया आर्टिफिशियल बारिश पानी हो जायेगा और भी सस्ता

बारिश आज के आधुनिक युग में एक हथियार की तरह काम कर सकती है जिस तरह से हमारे पृथ्वी का तापमान बदल रहा है हर जगह का मौसम बदल रहा है वहा पर मौसम को सही किया जा सकता है।
आर्टिफिशियल बारिश से वहा पर बारिश करा सकते हैं जहा कम बारिश होती है।
आर्टिफिशियल बारिश से गर्मी जैसी स्मास्य से बचा जा सकता है
आर्टिफिशियल बारिश से खेती की समस्या के खत्म लिया जा सकता है।
आर्टिफिशियल बारिश सूखे जैसे समस्या को कम किया जा सकता है।

Dubai has developed artificial rain आर्टिफिशियल बारिश से नुकसान

Dubai has developed artificial rain
Dubai has developed artificial rain

ये नेचर के साथ बाधा डाल सकता है।
एनवायरमेंट के साथ छेड़ छाड़
आर्टिफिशियल बारिश से कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा में वृद्धि हो सकती है Read More:-

ऐसी ही रोचक जानकारी के लिए हमारे पेज को फॉलो जरूर करे क्युकी हम आपको जायदा से जायदा ट्रुथ एथेंटिक बाते शेयर करते हैं।
धन्यवाद…….🙏🏾 

Leave a Comment