दिल्ली में बाढ़ के पीछे किसका है हाथ जाने पूरी बात

Aditya Kushwaha
3 Min Read
दिल्ली में बाढ़

पिछले कुछ दिनों से बारिश की वजह से दिल्ली में बाढ़ की भयावह स्थिति देखने को मिली है

लेकिन ऐसा क्यों की दिल्ली जैसे बड़े शहरों में हमें भीषण बाद देखने को मिल रहा है हम आगे इन सब बातों पर चर्चा करने वाले है। 

दिल्ली में बाढ़
दिल्ली में बाढ़

आखिर क्या है बाढ़ आने का मुख्य कारण :-

वर्तमान दिनों में दिल्ली में बाढ़ देखने को मिल रहा है जो अत्यंत भयावह स्थिति धारण करते जा रही है यमुना नदी का पिछले 45 वर्षों में अपने उच्चतम जलस्तर पर पहुंच जाने के कारण दिल्ली का एक विशाल भाग जलमग्न हो गया है।
ऐतिहासिक स्थल और सबके जलमग्न हो गई है।
जिससे कि 3-4 लोगो की जाने चली गई है अधिकारी और रहटकर्मी जल स्तर को नियंत्रित करने के लिए जाम हुए नल द्वारो को खोलने और टूटे हुए नली नियामकों की मरम्मत करने में लगे हुए है। 

क्यों मानसून ने किया दिल्ली को बेहाल जानिए 5 कारण

दिल्ली में बाढ़
दिल्ली में बाढ़



हरियाणा डैम के खुले द्वार

हरियाणा के हथिनीकुंड बैराज से पानी छोड़े जाने से केंद्र में जलभराव सबसे मुख्य कारणों में एक है।

हथिनीकुंड बैराज डैम हरियाना में यमुना नगर तथा यूपी के सहारनपुर की सीमा के बीच स्थित है।

पिछले कुछ दिनों से हिमाचल प्रदेश में भरी वर्षा के कारण बैराज बांध पूरी छमता से भर गया अमूमन यह प्रति घंटे की दर से 352 क्युसेन पानी छोड़ता है जलग्रहण छेत्रो में अपार बारिश होने पर छोड़े गए पानी की मात्रा बढ़ जाती है।

हाल ही में यमुना नदी में जल स्तर बढ़ने से बैराज का बहाव बढ़ गया। 9 जुलाई शाम 4 बजे 111060 क्यूसेक पानी छोड़ना बाढ़ की स्थिति को दर्शाता है 1 लाख क्यूसेक से ज्यादा पानी छोड़ने पर बाढ़ की स्थिति मनी जाती है।
11 जुलाई सुबह 11बजे बैराज बांध से 359769 क्यूसेक पानी छोड़े जाने से दिल्ली जैसे शहर में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हुई है।

जिसके कारण बाढ़ का पानी दिल्ली के तमाम शहरों में पहुंच गया जिससे पूरा इलाका जलमग्न हो गया।

अभूतपूर्व वर्षा 

पिछले कुछ सप्ताह में उत्तर भारत में मूसलधार वर्षा देखने को मिली, जिससे बड़े पैमाने पर भूस्खलन, बाढ़ और बारिश से सम्बन्धित घटनाएं सामने आयी है मौसम विभाग ने बारिश का कारण पश्चिमी विचोभ और मानसूनी हवाओं के संगम को जिम्मेदार ठहराया। 

READ MORE: 

Share this Article
Leave a comment